17 Jul 2024, 19:26:52 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

लाल निशान में बंद हुआ बाजार, निवेशकों ने 105 मिनट में गंवाए 5.88 लाख करोड़

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 10 2024 4:00PM | Updated Date: Jul 10 2024 4:01PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

बुधवार सुबह जब शेयर बाजार ओपन हुआ तब सेंसेक्स और निफ्टी एक बार फिर से रिकॉर्ड लेवल पर पहुंच गया। बस वो ही एक क्षण था जब शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली। उसके बाद सेंसेक्स और निफ्टी में गिरावट आ गई। करीब 105 मिनट में सेंसेक्स में 1000 से ज्यादा और निफ्टी में 300 से ज्यादा अंकों की गिरावट देखने को मिली। यही कारण है निवेशकों को इसी दौरान 5।88 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हो गया।

जानकारों की मानें तो शेयर बाजार के रिकॉर्ड लेवल पर पहुंचने के बाद मुनाफावसूली शुरू होने, सेंसेक्स और निफ्टी के ओवरवैल्यूड होने, जून क्वार्टर में कंपनियों की कमाई का स्लोडाउन होने और फेड की ओर से ब्याज दरों में कटौती के संकेत ना मिलने की वजह से शेयर बाजार में गिरावट आई है। वैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ लेने के बाद से 9 जुलाई तक सेंसेक्स और निफ्टी में 5 फीसदी की तेजी देखने को मिल चुकी है। आइए आंकड़ों से समझने की कोशिश करते हैं कि आखिर सेंसेक्स और निफ्टी में किस तरह के आंकड़ें देखने को मिल रहे हैं।

बांबे स्टॉक एक्सचेंज के प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स में आज बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है। जब सेंसेक्स ओपन हुआ तो शेयर बाजार नए 52 हफ्तों के हाई पर पहुंच गया। आंकड़ों के अनुसार सेंसेक्स 80,481.36 अंकों के साथ ओपन हुआ और नया लाइफ टाइम का रिकॉर्ड बन गया। उसके बाद सेंसेक्स में लगातार गिरावट देखे को मिली और 11 बजे तक सेंसेक्स 1,045.6 प्वाइंट क्रैश होकर 79,435.76 अंकों के दिन के लोअर लेवल पर आ गया। वैसे एक दिन पहले सेंसेक्स 80,351.64 अंकों के साथ रिकॉर्ड लेवल पर बंद हुआ था।

वहीं दूसरी ओर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख सूचकांक निफ्टी रिकॉर्ड लेवल से 1.30 फीसदी नीचे आ गई। आंकड़ों के अनुसार बुधवार को निफ्टी 24,459.85 अंकों पर ओपन और कुछ ही देर में 24,461.05 अंकों के लाइफ टाइम हाई पर पहुंच गया। उसके उसमें 319.25 अंकों की गिरावट देखने को मिली और 24,141.80 अंकों के दिन लोअर लेवल पर आ गया। वैसे एक दिन पहले भी निफ्टी 24,433.20 अंकों के साथ रिकॉर्ड लेवल पर बंद हो गया था। जानकारों की मानें तो बीते कुछ दिनों में निफ्टी में ओवरबाइंग देखने को मिली है। जिसकी वजह से शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिल रही है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने 9 जून यानी रविवार को तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी। 10 जून के बाद से 9 जुलाई तक सेंसेक्स और निफ्टी में 5 फीसदी की तेजी देखने को मिली है। निफ्टी में बीते एक महीने में 5 फीसदी यानी 1,174 अंकों की तेजी देखने को मिली है। वहीं दूसरी ओर सेंसेक्स में इस दौरान 3,861.56 अंकों का इजाफा देखने को मिला है। जानकारों की मानें तो बजट के ऐलान तक सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में करीब 5 फीसदी तक का इजाफा देखने को मिल सकता है।

जैसे ही आज शेयर बाजार ओपन और सेंसेक्स रिकॉर्ड लेवल पर पहुंचा तो बीएसई का मार्केट कैप रिकॉर्ड 4,52,67,778.76 करोड़ रुपए पर आ गया। उसके 105 मिनट के भीतर यानी सुबह 11 बजे सेंसेक्स दिन के लोअर लेवल पर आ गया तो मार्केट कैप 4,46,79,667.56 करोड़ रुपए पर आ गया। इसका मतलब है कि बीएसई के मार्केट कैप में 105 मिनट के भीतर 5,88,111.2 करोड़ रुपए की गिरावट देखने को मिल चुकी है। यही निवेशकों का मोटा नुकसान भी है।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर बुधवार को महिंद्रा एंड महिंद्रा में 6.51 फीसदी की गिरावट देखने को मिल चुकी है। हिंडाल्को का शेयर 2.20 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा है। टाटा स्टील, टीसीएस और एचसीएल टेक के शेयर में डेढ़ फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिल रही है। अगर बात देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में करीब एक फीसदी की गिरावट देखने को मिल रही है। वहीं दूसरी ओर एचडीएफसी बैंक के शेयर में 0.59 फीसदी गिरावट देखने को मिल रही है।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »