20 Apr 2024, 07:01:51 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport

शराब के नशे में AIFF अधिकारी ने महिला फुटबॉल खिलाड़ियों के साथ की मारपीट, FIR दर्ज

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Mar 30 2024 9:46PM | Updated Date: Mar 30 2024 9:46PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। भारतीय फुटबॉल जगत से एक बुरी खबर सामने आ रही है। अखिल भारतीय भारतीय फुटबॉल महासंघ (AIFF) विवादों में घिर गया है। हिमाचल प्रदेश की दो महिला फुटबॉलरों ने अधिकारी दीपक शर्मा पर मारपीट के आरोप लगाए हैं। दोनों खिलाड़ियों का आरोप है कि दीपक शर्मा ने नशे की हालत में कमरे में आकर उनके साथ मारपीट की। अब इस मामले में एक बड़ी खबर सामने आ रही है। गोवा पुलिस ने दीपक को गिरफ्तार कर लिया गया है। बता दें कि दीपक शर्मा फिलहाल हिमाचल फुटबॉल एसोसिएशन के महासचिव हैं।

साथ ही दीपक इस समय AIFF की कार्यकारी समिति के सदस्य भी हैं। दोनों महिला खिलाड़ियों के मुताबिक जब दीपक शर्मा कमरे में आए और मारपीट की, तब वो शराब के नशे में थे। दोनों खिलाड़ियों ने इस घटना की शिकायत अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ से भी की। आरोप लगाने वाली दोनों खिलाड़ी गोवा में जारी इंडियन वूमेन्स लीग-2 में खाद एफसी टीम के लिए खेल रही हैं। खाद एफसी हिमाचल प्रदेश की ही टीम है। हालांकि दीपक शर्मा ने इन आरोपों को निराधार बताया है।

दीपक शर्मा ने आज तक से बात करते हुए कहा, 'यह सब निराधार है। कोई उन्हें भड़काने और इसे बिना बात का मुद्दा बनाने की कोशिश कर रहा है। वे रात 11 बजे के आसपास बाहर से अंडे लेकर आई थीं। मैंने बस समय को लेकर उन्हें डांटा था। यह एक छोटा सा मुद्दा था। यह 28 मार्च की शाम को हुआ था। जब यह घटना घटी तो मेरी पत्नी भी मेरे साथ थी। मैंने एआईएफएफ से भी बातचीत की और उन्हें हर चीज के बारे में जानकारी दी। इसमें कोई गंभीर बात नहीं है।'

मामला सामने आने के बाद हाल ही में AIFF अध्यक्ष कल्याण चौबे ने कहा था, 'मैंने हाल ही में सुना है कि आंतरिक शिकायत समिति (आईसीसी) की सामान्य प्रक्रिया का संविधान के अनुसार पालन किया जाएगा। हम दिशानिर्देशों का पालन करेंगे। हम इस मामले को बहुत गंभीरता से लेंगे। समाज में ऐसे आचरण को प्रोत्साहन नहीं मिलना चाहिए। हम इसकी सच्चाई का पता लगाएंगे और उसी अनुसार कार्रवाई करेंगे। सिर्फ खिलाड़ी ही नहीं बल्कि कोच, बॉल गर्ल, सहयोगी स्टाफ, चाहे वह कोई भी हो। दोनों पक्षों को सुनने के बाद ही एक्शन लिया जाएगा। हम जल्दबाजी में कोई निर्णय नहीं ले सकते।' 

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »